Skip to main content

Posts

समाज को दिशा देने में स्तरीय शोध पत्रिका की अहम भूमिका – इंद्रेश कुमार

धर्म ख़तरा नहीं है, कट्टरता बड़ी समस्या है। हमारा डीएनए एक है इस हिसाब से हम सभी भारतीय एक हैं। ये विचार आरएसएस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य और राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच ( आरएसजेएम) एवं लोक संभाषण के मार्गदर्शक डॉ इंद्रेश कुमार ने दिल्ली विश्वविद्यालय में आयोजित आरएसजेएम की द्विभाषी त्रैमासिक शोध पत्रिका ‘लोक संभाषण’ के लोकार्पण कार्यक्रम में व्यक्त किए। अंतरराष्ट्रीय शोध पत्रिका ‘लोक संभाषण’ के इस लोकार्पण कार्यक्रम में
Recent posts

रैपर ‘नाज़’ के साथ झूमें छात्र

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और डिज़िटल लर्निंग के क्षेत्र की प्रमुख संस्था मैक्सिमम लर्निंग द्वारा क्रिसमस की पूर्व संध्या पर एमटीवी हसल रैप आर्टिस्ट ‘नाज़’ की लाइव प्रस्तुति का आयोजन किया गया। इस संगीतमय प्रस्तुति के दौरान लगभग 200 की संख्या में छात्र व अन्य लोग उपस्थित थे।

मां सीता के जन्मस्थान पुनौरा धाम का पुनरुद्धार कार्य इसी महीने होगा शुरू- संजय झा

बिहार के जल संसाधन एवं जनसंपर्क मंत्री संजय झा ने कहा है कि मां सीता के जन्म स्थान पुनौरा धाम का पुनरुद्धार कार्य इसी साल दिसंबर में शुरू कर दिया जाएगा. जबकि अगले साल तक इस कार्य को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. मैथिल पत्रकार ग्रुप की ओर से प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया दिल्ली में आयोजित मिथिला महोत्सव 7 और मिथिला लिटरेचर फेस्टिवल-4 के लिए प्रेषित अपने संबोधन में उन्होंने

रोजगार और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए ब्लू करिकुलम तैयार करने पर जोर

थिंकटैंक सेंटर फॉर सिविल सोसायटी (सीसीएस) और फ्रेडरिक न्यूमन फाउंडेशन (एफएनएफ) का मानना है कि समुद्र आधारित अर्थव्यवस्था (ब्लू इकोनॉमी) को बढ़ावा देकर देश में आर्थिक प्रगति और रोजगार के नए आयाम स्थापित किये जा सकते हैं। इस उद्देश्य के तहत राजधानी दिल्ली में ‘साउथ एशियन ब्लू करिकुलम फॉर मॉडर्न एजुकेशनः इंडिया एंड बिम्स्टेक राउंडटेबल’ सम्मेलन का आयोजन किया गया।

अनिला खोसला और श्रीकांत किशोर को ‘मैलोरंग नेपथ्य रंगसम्मान’

इस वर्ष का ‘मैलोरंग नेपथ्य रंगसम्मान’ रंगसमीक्षा, अनुवाद एवं नाट्य लेखन के क्षेत्र में योगदान देने वाले श्री श्रीकांत किशोर और सुप्रसिद्ध परिधान परिकल्पक एवं अभिनेत्री श्रीमती अनिला सिंह खोसला को दिया जाएगा। दिल्ली की प्रमुख नाट्य संस्था ‘मैलोरंग’ के तत्त्वावधान में यह सम्मान प्रति वर्षदिया जाता है । इस सम्मान से सम्मानित रंगशीर्ष को प्रतीक चिह्न, अंगवस्त्र, एवं 51,000/- रुपये की राशि प्रदान की जाती है । वर्ष 2023 के लिए चौथे एवं पाँचवें मैलोरंग ‘नेपथ्य रंगसम्मान’-2023 की घोषणा एक साथ किया गया है ।

चितरंजन त्रिपाठी बने राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय-NSD के नए निदेशक

आखिरकार राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय- NSD को स्थायी निदेशक चितरंजन त्रिपाठी के रूप में मिल गया है। संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत भारत सरकार की स्वायत्त संस्था राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय विश्व पटल पर रंगमंच के लिए स्थापित रंग संस्था है। चितरंजन त्रिपाठी एनएसडी ते 12 वें निदेशक हैं। अच्छी बात यह है कि वे यहां के 9वें स्नातक भी हैं, जिन्होंने निदेशक का पद भार सम्भाला है। श्री त्रिपाठी राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के 1996 बैच के स्नातक हैं।

स्कूल सेफ्टी एक्ट बनाने की मांग को लेकर जंतर मंतर पहुंचे शिक्षक

आज 5 अक्तूबर को अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस है। यूनेस्को द्वारा इस दिवस को मनाने का आह्वान शिक्षकों का सम्मान करने और सभ्य समाज के निर्माण में उनके योगदानों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के उद्देश्य से किया गया था। लेकिन आलम ये है कि शिक्षकों को इस दिन अपने लिए सम्मान और सुरक्षा की मांग को लेकर जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करने को मजबूर होना पड़ रहा है।

भाषा सर्वेक्षण पर कालजयी किताब है भारत का भाषा सर्वेक्षण एवं भोजपुरी

भाषा सर्वेक्षण और भोजपुरी के संदर्भ में पृथ्वीराज सिंह द्वारा रचित पुस्तक 'भारत का भाषा सर्वेक्षण एवं भोजपुरी' एक कालजयी किताब है, जो गहन शोध पर आधारित एक श्रमसाध्य कार्य है । इस किताब का व्यापक महत्व है। उक्त बातें इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय कला केंद्र के अध्यक्ष सह वरिष्ठ पत्रकार राम बहादुर राय ने 'भारत का भाषा सर्वेक्षण एवं भोजपुरी' किताब के अनावरण सह परिचर्चा कार्यक्रम में कहीं। अनावरण सह परिचर्चा कार्यक्रम का आयोजन शुक्रवार को नई दिल्ली स्थित इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय कला केंद्र के उमंग सभागार में संपन्न हुआ।

CCS के 25 साल: न्यूनतम सरकारी हस्तक्षेप और निजी प्रयासों से होने वाला विकास ही असली विकासः गुरचरन

मशहूर लेखक गुरचरन दास ने कहा है कि कम सरकारी दखल और निजी कोशिशों से होने वाला विकास ही असली विकास है। अग्रणी थिंक टैंक सेंटर फॉर सिविल सोसायटी (सीसीएस) की स्थापना के 25 वर्ष पूरे होने के अवसर पर दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि निजी प्रयासों और न्यूनतम सरकारी हस्तक्षेप के साथ होने वाला विकास ही असली और दीर्घकाल तक परिणाम देने वाला विकास होता है।

एक्सिलेंस इन एजुकेशन अवार्ड्स- 2023: देश के शिक्षकों को सम्मानित करेंगे मॉरिसस के राष्ट्रपति

इंटेलिजेंट माइंड्स ट्रस्ट (आईएमटी) द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने वाले देशभर के तीन दर्जन से अधिक स्कूल लीडर्स को सम्मानित करने के लिए चयनित किया गया है। चयनित स्कूल लीडर्स 23 अगस्त को मॉरिसस के वर्ल्ड हिंदी सेक्रेटेरिएट में वहां के राष्ट्रपति पृथ्वीराजसिंग रूपन द्वारा पुरस्कार से सम्मानित किए जाएंगे।

जलवायु परिवर्तन के विषय को जी-20 के विमर्श का मुद्दा बनाना सराहनीय फैसला

फ्रेडरिक न्यूमन फाउंडेशन (एफएनएफ) साउथ एशिया प्रमुख डॉ कर्स्टन क्लेन ने भारत द्वारा वैश्विक जलवायु परिवर्तन के विषय को जी-20 जैसे महत्वपूर्ण मंच पर चर्चा का मुद्दा बनाने के फैसले को सराहनीय कदम बताया है। उन्होंने कहा कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र में जलवायु परिवर्तन के भयावह दुष्परिणाम बाढ़, सूखे, तापमान में वृद्धि और लू के रूप में देखने को मिल रहे हैं।

जयपुर में जल्द होगा जज़्बा- देशभर के युवाओं को दिया जाएगा तकनीकी प्रक्षिक्षण

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाने को इच्छुक युवाओं खासकर ज़रूरतमंद परिवारों के बच्चे जिन्हें एवरेज सूडेन्ट्स माना जाता है और उनकी सक्सेस पर एक सवालिया निशान लगा होता है, उन बच्चों के भविष्य निर्माण और स्वावलम्बी बनाने की दिशा में जज़्बा 2.0 की घोषणा के साथ ही उसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गयी हैं। इस बात की जानकारी

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय, रंगमण्‍डल का 7 दिवसीय ‘ग्रीष्मकालीन नाट्य समारोह’ अब दिल्ली में

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय, रंगमण्‍डल का 7 दिवसीय ‘ग्रीष्मकालीन नाट्य समारोह’ अब दिल्ली में होगा। सात दिवसीय यह आयोजन 28 जून से 04 जुलाई, 2023 तक प्रतिदिन शाम 07 बजे दिल्ली में आयोजित किया जाएगा।

AIIA में योग दिवस का उत्साह

नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (AIIA) में 21 जून को 9वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। कार्यक्रम का आयोजन केंद्रीय विद्यालय एनटीपीसी, बदर पुर के सहयोग से किया गया। इस दौरान सामान्य योग प्रोटोकॉल और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का संचालन भी किया गया।

आयुष में अनुसंधान और शिक्षा के लिए एक इंटरएक्टिव सम्मेलन का आयोजन

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (एआईआईए) और केन्‍द्रीय आयुर्वेदीय विज्ञान अनुसंधान परिषद् ने 10 मई को संयुक्त रूप से आयुष में अनुसंधान और शिक्षा के लिए एक इंटरएक्टिव सम्मेलन का आयोजन किया। बैठक में सभी आयुष राष्ट्रीय संस्थानों, अनुसंधान, परिषदों के प्रमुखों और एमओए के सलाहकारों, एनसीएसआईएम और एनसीएच के अध्यक्ष सहित पांच नव-प्रतिष्ठित नियुक्त वैज्ञानिक और मुख्य अतिथियों में आयुष प्रतिष्ठित वैज्ञानिक अध्यक्ष डॉ. नंदिनी के. कुमार (अंतःविषय नैदानिक अनुसंधान), डॉ. अरविंद चोपड़ा, (सार्वजनिक स्वास्थ्य और महामारी विज्ञान), डॉ. शर्मिला शेखर मांडे (आयुर्वेद बायोलॉजी एंड बेसिक साइंसेज), डॉ. मधु दीक्षित (फार्मास्युटिकल ड्रग डेवलपमेंट) और डॉ. बी.एन. गंगाधर (चेतना और संज्ञानात्मक विज्ञान) आयुष प्रतिष्ठित वैज्ञानिक अध्यक्षों ने भाग लिया।

नोएडा सेक्टर 34 में बंदरों का आतंक: बी-12ए निवासी परेशान, लेकिन कोई राहत नहीं

उत्तर प्रदेश के नोएडा में सेक्टर 34 निवासी इन दिनों बंदरों से परेशान हैं। सेक्टर 34 के धवलगिरी बी 12ए अपार्टमेंट में बंदरों ने पिछले दो-तीन महीनों से उत्पात मचाया हुआ है। यहां बंदरों के झुंड बीच-बीच में आकर हुड़दंग मचाते रहते हैं। बंदर घरों के बाहर से खाने-पीने के सामान के अलावा कपड़े तक उठा ले जाते हैं। बंदरों से बच्चों के साथ अपार्टमेंट के बड़े लोग भी डरे हुए हैं।

आईआईएम काशीपुर ने 344 एमबीए स्नातकों को 10वें दीक्षांत समारोह में डिग्री प्रदान की

IIM काशीपुर ने अपने प्रमुख दो वर्षीय MBA (2021- 2023 बैच), एमबीए एनालिटिक्स, एक्सेक्यूटिव एमबीए और डाक्टरल कार्यक्रम के लिए अपने 10वें दीक्षांत समारोह की मेजबानी की। संस्थान ने कुल 353 छात्रों को डिग्री प्रदान की, जिनमें 9 डाक्टरल और 344 एमबीए स्नातक (260 दो वर्षीय एमबीए, 58 एमबीए एनालिटिक्स छात्र, और 26 एक्सेक्यूटिव एमबीए छात्र) शामिल हैं।

न्यूयॉर्क के ट्रिबेका फेस्टिवल में होगा आदिपुरुष का वर्ल्ड प्रीमियर

निर्देशक ओम राउत, निर्माता भूषण कुमार और अभिनेता प्रभास के लिए यह वकाई एक बड़ी उपलब्धि हैं, क्योंकि इससे भारतीय सिनेमा को एक प्रतिष्ठित वैश्विक मंच मिलेगा। फिल्म आदिपुरुष अब बस कुछ ही महीनों में रिलीज होने वाली है और दर्शक राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता निर्देशक ओम राउत द्वारा भारतीय इतिहास और संस्कृति के सबसे महान महाकाव्य रामायण के चित्रण को देखने के लिए काफी उत्साहित हैं। इस फिल्म को लेकर एक बड़ी खबर समाने आई है जो सभी के लिए बेहद खुशी और गर्व की बात है

एआईआईए करेगा एकीकृत समग्र स्वास्थ्य पर C20 कार्य समूह की मेजबानी

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (AIIA), भारत में आयुर्वेद का शीर्ष संस्थान, आयुष मंत्रालय के अंतर्गत एक स्वायत्त संस्थान है, जो 8 अप्रैल 2023 को "एकीकृत समग्र स्वास्थ्य पर C20 के कार्यकारी समूह" के लिए एक वॉकथ्रू की मेजबानी कर रहा है।

सद्भावना ट्रस्ट लखनऊ में महिला दिवस समारोह एवं लीडरशिप बिल्डिंग सर्टिफिकेशन कार्यक्रम

सद्भावना ट्रस्ट, 2009 से लखनऊ शहर की बस्तियों में ज़रूरतमंद समुदाय के साथ काम रही हैं। संस्था विशेषकर लड़कियों और महिलाओं के साथ सामाजिक मुद्दे पर नज़रिया निर्माण करके उन्हें नेतृत्व में लाने का काम करती हैं। साथ ही युवा महिलाओं को तकनीकि कौशल का हुनर देते हुये उनको सशक्तीकरण एवं आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रोत्साहित करती हैं।

वरिष्ठ पत्रकार उमेश चतुर्वेदी की पुस्तक ' राजभाषा हिंदी और अस्तित्व बोध’ का लोकार्पण

हिंदी की समस्या यह है कि उसके प्रति लोक में उतनी जागरूकता नहीं है, जितना राजभाषा के संदर्भ में होनी चाहिए। ‘राजभाषा हिंदी और अस्तित्व बोध’ पुस्तक इसी जागरूकता को बढ़ाने का प्रयास है। यह कहना है, वरिष्ठ पत्रकार और प्रसार भारती के कंसल्टेंट उमेश चतुर्वेदी का। दिल्ली पुस्तक मेले के आखिरी दिन इस पुस्तक के औपचारिक लोकार्पण के मौके पर उन्होंने यह बात कही।

सफदरजंग अस्पताल में एकीकृत चिकित्सा विभाग शुरू

नई दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में एकीकृत चिकित्सा केंद्र शुरू हो गया है। केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ मनसुख मांडविया ने 7 फरवरी, 2023 को इस एकीकृत चिकित्सा केंद्र का उद्घाटन किया। इस अवसर पर स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ भारती प्रवीन पवार और आयुष राज्य मंत्री डॉ. मुंजपाडा महेंद्रभाई कालूभाई और आयुष मंत्रालय में सचिव वैद्य राजेश कोटेचा भी उपस्थित थे।

 अटल काव्यांजलि में जुटेंगे देश के दिग्गज कवि

पिछले कई वर्षों की भांति भारतीय राजनीति के पुरोधा युगपुरुष हम सभी के प्रेरणा स्रोत, भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री श्रधेय अटल बिहारी वाजपेई जी की जन्मजयंती की पूर्व संध्या पर दिनांक 24 दिसंबर 2022 को सायंकाल काल 5:00 बजे से 8.00 बजे तक दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित एनडीएमसी कन्वेंशन हॉल में एक भव्य "अटल काव्यांजलि" का आयोजन नीरज स्मृति न्यास द्वारा किया जा रहा है।

 प्रधानमंत्री मोदी ने नागपुर रेलवे स्टेशन से वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 11 दिसंबर को नागपुर रेलवे स्टेशन से नागपुर और बिलासपुर को जोड़ने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस को झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रधानमंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के डिब्बों का निरीक्षण किया और ऑनबोर्ड सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने नागपुर और अजनी रेलवे स्टेशनों की विकास योजनाओं का भी जायजा लिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने किया एम्स नागपुर राष्ट्र को समर्पित

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज, 11 दिसंबर को एम्स नागपुर राष्ट्र को समर्पित किया। प्रधानमंत्री ने नागपुर एम्स परियोजना मॉडल का निरीक्षण भी किया और इस अवसर पर प्रदर्शित माइलस्टोन प्रदर्शनी गैलरी का अवलोकन किया।

मेडिकल टूरिज्म को बढ़ावा देगा अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान का गोवा सेंटर: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को गोवा की परनेम तालुका के धारगल गांव में स्थित अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान के सैटेलाइट सेंटर का शुभारंभ विश्व आयुर्वेद कांग्रेस के समापन सत्र में किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में कहा कि अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान कि गोवा शाखा मेडिकल टूरिज्म को बढ़ावा देने के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है।

 संगत-पंगत का काम लोगों को जोड़ कर जरूरतमंद की मदद करना है- आर. के. सिन्हा

पूर्वी दिल्ली के गुरु अंगद नगर स्थित सामुदायिक भवन में  संगत -पंगत का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि श्री आर. के. सिन्हा थे। इस कार्यक्रम की शुरुआत चित्रगुप्त भगवान की आरती से हुई। इसका आयोजन संगत-पंगत के द्वारा किया गया।

 इस बार एनआईटीटीटीआर-चंडीगढ़ में लगेगा मीडिया चौपाल

'मीडिया चौपाल' संचारकर्मियों के वैचारिक आदान-प्रदान का एक सशक्त माध्यम है। मीडिया और समाज के सम्बन्धों को सुदृढ़ बनाने के लिए वर्ष 2012 में 'मीडिया चौपाल' की शुरुआत हुई थी। तब से यह चौपाल अलग-अलग जगह लग रहा है और संचारविदों के ज्ञान एवं अनुभव से सबको लाभान्वित कर रहा है। इस वर्ष के 'मीडिया चौपाल' का आयोजन दि. 02 से 04 दिसंबर, 2022 को राष्ट्रीय तकनीकी शिक्षक प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान (एनआईटीटीटीआर) चंडीगढ़ में होगा और विचार-विमर्श का केन्द्रीय विषय “अमृतकाल में भारत अभ्युदय : चुनौतियाँ एवं संकल्प” है।

 दिल्ली का अपना कविता और शायरी का उत्सव: दिल्ली पोएट्री फेस्टिवल सीज़न 6

दिल्ली पोएट्री फेस्टिवल ऐतिहासिक शहर दिल्ली के सांस्कृतिक और काव्य विरासत को बचाने, पुनर्जीवित करने और उसका जश्न मनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस साल दिल्ली पोएट्री फेस्टिवल चार अलग-अलग भाषाओं- हिंदी, उर्दू, पंजाबी और अंग्रेज़ी में ख़ास अंदाज़ में शायरी और कविता का जश्न मनाएगा। अन्य भारतीय भाषाओं के कवि भी कविता और शायरी को समर्पित इस इकलौते उत्सव में भाग लेंगे। इस कविता उत्सव में कविता के इर्द-गिर्द होने वाली चर्चाओं पर रौशनी डालने के लिए कई वक्ता मौजूद होंगे, आपका मन मोह लेने के लिए कई कलाकार मौजूद होंगे और कवितायेँ और शायरी ऐसी होंगी जो आपके रूह में उतर जाएंगी।

एक मां और बच्चे के रिश्ते की कहानी दिखाती है मैथिली फिल्म 'लोटस ब्लूम्स'

अपनी मैथिली फीचर-फिल्म 'लोटस ब्लूम्स' के पीछे की प्रेरणा के बारे में बात करते हुए निर्देशक प्रतीक शर्मा ने कहा कि इसके पीछे का विचार था प्रकृति के साथ एक इंसान के जीवन की भावनात्मक यात्रा को दिखाना जिसके साक्षी लोग हैं। लेकिन वे इस संदेश को मनोरंजक तरीके से पहुंचाना चाहते थे। पटकथा लेखिका अस्मिता शर्मा ने 'लोटस ब्लूम्स' के केंद्रीय विषय के बारे में बताया कि ये कायनात किसी के लिए जो योजना बनाती है, वो हमेशा पूरी होती है और कभी-कभी

टेकशॉट्स और VESIT मिलकर बनाएंगे आईटी जगत के खरीद संबंधी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टूल

मेसी डेस्‍क मीडिया की सहायक कंपनी एवं नए जमाने की इन्‍फॉर्मेशन ऐप टेकशॉट्स और मुंबई के इंजीनियरिंग कॉलेज विवेकानंद एजूकेशन सोसायटीज इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी(VESIT) के बीच एक करार पर हस्‍ताक्षर हुए हैं। यह समझौता आईटी जगत के खरीद संबंधी पैटर्न का पूर्वानुमान करने वाले आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस(एआई) टूल्स को तैयार करने के लिए किया गया है।

 महान संगीत रचने के लिये लय और पद्य के बीच विवाह सरीखे मधुर सम्बंध होने चाहिए- प्रसून जोशी

शब्दों के उस्ताद खिलाड़ी प्रसून जोशी ने कहा है कि महान संगीत की रचना के लिए कवि के पद्य और संगीतकार की लय के बीच विवाह सरीखे मधुर सम्बंध होने चाहिए। श्री जोशी 53वें भारत अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के दौरान 22 नवंबर को गोवा में आयोजित एक संवाद-सत्र में बोल रहे थे। उन्होंने कहा, “गीतकार और संगीतकार के बीच का रिश्ता दो विपरीत प्राणियों का एक साथ रहने जैसा होता है, लेकिन दोनों को हमेशा एक-दूसरे का पूरक होना चाहिए।”

  क्‍या उस समाज में महिलाएं वास्तव में सुरक्षित हैं जहां हम महिलाओं को सशक्‍त कहते हैं?

जब हम किसी समाज में महिलाओं को सशक्त बताते हैं, तो क्या वास्तव में इसका मतलब यह है कि महिलाएं घात लगाकर बैठे सभी खतरों से सुरक्षित हैं? क्या इसे सही मायने में व्‍यावहारिक तौर पर लागू किया गया है। क्या हमने महात्मा गांधीजी की रामराज्य का सपना पूरा कर लिया है जहां बचाव और सुरक्षा सम्मिलित हैं? कन्नड़ फिल्म 'नानू कुसुमा' (मैं कुसुमा हूं) द्वारा पूछे गए ये कुछ विचारोत्तेजक प्रश्न हैं।

 संघर्ष जितना अधिक होगा, संवेदना उतनी ही अधिक छुएगीः ऊषा किरण खान

साहित्य आजतक के मंचपर अंतिम दिन 'ये जिंदगी के मेले' सेशन में देशकी जानी मानी लेखिकाओं ने साहित्य, लेखन और मौजूदा परिदृश्य पर बातें कीं. इनमें लेखिका उपन्यासकार डॉ. सूर्यबाला, लेखिका ममताकालिया, लेखिका ऊषाकिरण खान शामिल हुईं.