Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2020

टॉप 10 कोरोना प्रभावित देश

दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। कोरोना वायरस से संक्रमितों की कुल संख्या 35 लाख से ज़्यादा हो गई है। दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना के कहर से लगातार जूझ रही है। इस वायरस की चपेट में आकर दुनिया भर में अब तक 3.45 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। आइए जानते हैं टॉप 10 कोरोना प्रभावित देशों के बारे में -



भोजन में सलाद की महिमा

कुछ बरस पहले जब महंगाई की मार इस कदर नहीं हुआ करती थी, तब सलाद की प्लेट मुफ्त में ग्राहक को पेश की जाती थी। इस सलाद में प्याज और टमाटर के गोलाकार पतले टुकड़े के साथ एक-दो हरी मिर्च और आधा-चौथाई नींबू ही यथेष्ट समझा जाता था। बड़े रेस्तराओं और घरों में भी सलाद इससे ज्यादा अलग नहीं होता था, मूली-गाजर के साथ खीरे की कुछ फाँक भी उसमें दिख जाती थी। मजेदार बात यह है कि इसे हरा सलाद कहा जाता था, जबकि इसमें हरी धनिया पत्ती नाममात्र को ही होती थी।

अंग्रेजी में जिसे लेट्स कहते हैं, उसका हिंदी में अनुवाद सलाद की पत्ती किया जाता था। जाहिर है, इसका रिश्ता अंगेज साहबों के खान-पान से ही जोड़ा जाता था। वैसे ही जैसे गोलाकार तीखी लाल मारियो को सलाद की मूली कहा जाता था, जाड़े के मौसम में धूप में फुर्सत में बैठे लोग भले ही नमक व मिर्च मसाला के साथ ताजा मूली और गाजर तबियत से खाते हैं, पर इसे सलाद का नाम नहीं दिया जाता।

दक्षिण में खाने को किश्त में बारी-बारी से खाया जाता है। इन किश्तों को कोर्स की संज्ञा दी जाती है। भोजन की उस परंपरा में सलाद सबसे पहले भूख खोलनेवाले कोर्स के रूप में  पेश किया जाता है। बीते कु…

दुनिया के टॉप 10 सबसे अमीर क्रिकेटर

पूरी दुनिया में क्रिकेट का क्रेज़ छाया हुआ है। हम सभी जानते है कि भारत का सबसे लोकप्रिय खेल क्रिकेट है जिसे

टॉप 10 मोबाइल फ़ोन्स इन इंडिया

आप को तो पता ही होगा कि आजकल स्मार्टफ़ोन का जमाना है

10 प्रसिद्ध भारतीय हवाई अड्डे

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के मुताबिक वर्तमान समय के भारत में कुल 486 एयरपोर्ट हैं। इनमें कई एयरपोर्ट

अर्थव्यवस्था का पुनर्निर्माण!

आत्मनिर्भर भारत का विचार भारतीय लोकाचार और जन-सामान्य से सीधे जुडा हुआ है। अंग्रेजी को हराने के लिए

विकसित देशों के पैंतरे- भावना भारती

मौजूदा संकट ने वैश्विक अर्थव्यवस्था को संकटग्रस्त कर दिया है और इसके असर से कोई भी देश अछुता नहीं है। विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि

वोट बैंक की राजनीति में लीन हैं केजरीवाल- अशोक गोयल

कोरोना संकट के कारण हुए लॉकडाउन में सभी तरह के धार्मिक स्थल बंद है। ऐसे समय में दिल्ली के सभी धार्मिक स्थलों के पुजारियों को जीवन-यापन करने में समस्या आ रही हैं।

अजब-गजब से गीत!

कभी-कभी आप सुबह-सुबह ही कोई गाना सुन लें तो वह पूरा दिन आपके जेहन पर हावी रहता है। लेकिन उन

दुनिया के 10 सबसे खतरनाक कुत्ते

आपको ये तो पता ही होगा कि दुनिया में सबसे वफादार जानवरों में सबसे पहला नाम कुत्तों का आता है,

भारत के 10 सबसे घनी आबादी वाले शहर

भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है

मजदूर और इंसानियत

आजकल अधिकतर समय सोशल मीडिया पर ही बीतता है। टीवी पर इतनी नकारात्मक खबरें दिखायी जा रही है कि देखने का मन ही नहीं करता। किताबों के एक-दो पन्ने पढ़ना भी

चक्रवात के दौरान क्या करें और क्या ना करें

अत्यंत विशाल चक्रवात “अम्फान” सोमवार, 18 मई को महाचक्रवात में बदल गया।

भारत की टॉप 10 सेलिंग कार

भारत की टॉप 10 सेलिंग कार कौन-कौन सी है?

मन के नियंत्रण का अभ्यास

भारतवर्ष में जितने भी धर्म या संप्रदाय शुरू हुए हैं, इन सब का एक ही सिद्धांत है कि मनुष्य का मन बहुत चंचल है। चंचलता दूर करके उसका एकाग्र करना बहुत आवश्यक है। बिना मन की एकाग्रता के किसी भी क्षेत्र में मनुष्य को सफलता प्राप्त नहीं हो सकती। चित्त की वृत्तियां अनेक है, चित्त की उन सब वृत्तियों को एकाग्र करने से ही और प्रगाढ़ता आती है। जरा विचारे, सूर्य के किरणें पृथ्वी पर फैली होती है, जब एक आतशी शीशा उनके सामने रखा जाता है तब उनकी किरणों एक बिंदु पर केंद्रित  हो जाती है और उनकी शक्ति आ जाती है। जिस स्थान पर भी वह सूर्य बिंदु केंद्रित होगा वही अपनी शक्ति से अग्नि प्रज्वलित कर देता है। इस प्रकार जो भी मनुष्य अपनी बिखरी हुई शक्तियों को जितना अधिक एकाग्र कर लेता है उसको उतनी ही अधिक सफलता प्राप्त होती है, चाहे वह कर्म लौकिक हो या पारमार्थिक। विद्यार्थी का ही उदाहरण लीजिए - जो विद्यार्थी जितना अधिक मन लगाकर पढ़ेगा उसको उतनी ही अच्छी सफलता मिलेगी। मन की एकाग्रता का यह सिद्धांत प्रत्येक कार्य पर लागू होता है। इसीलिए हमारे सभी धर्म ग्रंथ मन की एकाग्रता पर अधिक महत्व देते हैं क्योंकि बिना इसकी …

हॉलीवुड की टॉप 10 हॉरर मूवी

क्या आप को हॉरर फिल्में देखना बहुत पसंद हैं? और अगर वो हॉरर फिल्म अगर किसी सच्ची कहानी से प्रेरित हो

बुद्ध का पर्यावरणीय दृष्टिकोण

मनुष्य और प्रकृति साथ कैसे रहे, यह मौजूदा दौर का सबसे अहम सवाल है। गौतम बुद्ध कहते है कि 'मनुष्य को चाहिए कि प्रकृति में पेड़-पौधे एवं तमाम जीव-जंतुओं के साथ

कोरोना संकट के समय में सतर्कता और सावधानी से करें निवेश

आज हर तरफ कोरोना वायरस की चर्चा है। देश में लॉकडाउन 50 दिन से आगे बढ़ चुका है। सभी तरह के कारोबार और आर्थिक गतिविधियों में एक तरह से बंदी है।

भारत की टॉप 5 पसंदीदा बाइक्स

क्या आपको पता है कि देश में कौन से ऐसे 5 बाइक्स हैं जो सबको सबसे ज्यदा पसंद है?

टॉप 10 हिंदुस्तानी वेब सीरीज

आप सब जानते हैं कि कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को रोक के रख दिया है। लॉकडाउन के कारण हम सब घरों में हैं।

स्वास्थ्य सुविधाओं की जरूरत

कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित करते के लिए हमारे देश में चल रहा लॉकडाउन को 17 मई को यानी अगले सप्ताह बहुत हद तक खत्म किया जा सकता है।

भारत के 13 सबसे बड़े राज्य

भारत विश्व का दूसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है। भारत क्षेत्रफल के हिसाब से दुनिया में सातवां सबसे बड़ा देश है।

कोरोना से जुड़े अहम सवाल

आंकड़ों को दर्ज करने के मामले में भारतीय स्वास्थ्य प्रबंधन तंत्र कभी अच्छा नहीं रहा। बीमारियों के मामलों को दर्ज करने में पूर्वाग्रह की स्थिति रही है। यह स्थिति कोविड-19 महामारी में भी जारी है। उदाहरण के तौर पर तेलंगाना में छह डॉक्टर ने लिखा कि कैसे राज्य के कुल आंकड़ों में कोविड 19 से होनेवाली मौतों का जिक्र नहीं किया जा रहा है।

ईमानदारी की श्रेष्ठता

अजीब स्वभाव है मानव का! हमारी भले ही ईमान से जान पहचान ना हो, पर हम चाहते हैं कि हमारे संपर्क में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति ईमानदार हों। व्यापार में, व्यवहार में , साहित्य में या संसार में सभी जगह ईमानदारी की मांग है।

कौन हैं बॉलीवुड के 10 सबसे अमीर एक्टर

बॉलीवुड में एक से बढ़कर एक एक्टर-सुपरस्टार मौजूद हैं। जो अपनी सुपरहिट फिल्मों के जरिए लोगों का एंटरटेनमेंट करते हैं। वो एक फिल्म के जरिए करोड़ों की कमाई एक साल में कर लेते हैं,

विष्णु भक्त नारद मुनि

भगवान विष्णु के परम भक्त नारद ब्रह्मा जी के पुत्र हैं। उन्होंने भगवान विष्णु की भक्ति और तपस्या की। नारद जी पर देवी सरस्वती की भी कृपा थी। उन्हें हर तरह की विद्या में महारत हासिल थी।

अर्थव्यवस्था का पहिया कंप्यूटर नहीं, मेहनतकश मजदूर हैं

अभी, लगभग सभी लोग जान रहे हैं कि लॉकडाउन के कारण मजदूरों को समस्या हो रही है। हाल के दिनों में कुछ ऐसी खबरें आई हैं जो हमें विचलित कर देती हैं। आप सभी ने यह खबर निश्चित ही पढ़ी होगी कि महाराष्ट्र के औरंगाबाद के पास 16 मजदूरों की मालगाड़ी से कटकर मौत हो गयी।

दुनिया के 10 सबसे खूबसूरत शहर

अगर आप घूमने-फिरने के शौकीन हैं और खुद को एक्सप्लोर करना चाहते हैं तो दुनिया के कुछ सबसे खूबसूरत शहरों में आपको जरूर जाना चाहिए।

कोलकाता के प्रमुख पर्यटन स्थल

लगभग 50 लाख से भी ज्यादा आबादी वाला शहर कोलकाता, जनसंख्या के हिसाब से भारत का तीसरा सबसे बड़ा शहर है।

लॉकडाउन में तनाव से बचने के उपाय

कोरोना वायरस को लेकर आए दिन आ रही खबरों से लोग ना सिर्फ परेशान हो रहे हैं, बल्कि तनाव में भी आ रहे हैं। इसे दूर करने के लिए इन टिप्स को अपनाएं और परिवार में खुशियां बांटने का प्रयास करें।

कोरोना वायरस को भगाने के लिए ऐसे बढ़ाएं अपनी शक्ति

कोरोना वायरस से बचने के लिए जितना जरूरी लॉकडाउन है, उससे ज्यादा जरूरी है इस दौरान खान-पान का ध्यान रखना। प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए डॉक्टर पौष्टिक आहार की सलाह दे रहे हैं। जिला अस्पताल के एसआईसी डॉक्टर एके सिंह ने बताया कि आयुष मंत्रालय की ओर से जारी निर्देश को अगर लोग मान ले तो निश्चित तौर पर लोगों की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत मजबूत होगी। उन्होंने अपील की है कि लोग लॉकडाउन का पालन जरूर करें ।

आयुष मंत्रालय की सलाह-
1. पूरे दिन गर्म पानी पीते रहे।
2. नियमित रूप से कम से कम 30 मिनट तक योगासन, प्राणायाम और ध्यान करें।
3. घर में मौजूद हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन आदि मसालों का इस्तेमाल भोजन बनाने में जरूर करें।
4. जिन लोगों की प्रतिरोधक क्षमता कम है, वह चवनप्राश का सेवन करें।
5. तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सोंठ पाउडर और मुनक्के (नहीं है तो सूखी अदरक को पीसकर चूर्ण बना लें) से बनी काली चाय को दिन में एक से दो बार पिएं।
6. चाय में चीनी के बजाय गुड़ का उपयोग करें। इससे बेहतर बनाने के लिए नींबू के रस भी मिला सकते हैं।
7. सुबह और शाम दोनों नथुनों में तेल या नारियल का तेल या फिर घी लगाए।

अच्छे स्वास्थ्य के लिए उचित आहार

मनुष्य का स्वास्थ्य इस बात पर निर्भर होता है कि उसका आहार कैसा है। यदि आहार संतुलित हो तो बेहतर है, परंतु यदि शरीर में किसी तत्व की कमी है तो संतुलित आहार भी उसके लिए उचित आहार नहीं होगा। इसके लिए आपको शरीर की जरूरतों के मुताबिक आहार लेना चाहिए।

विदेशों में परामर्श के लिए डाइटिशियन होते हैं जो डॉक्टर के भांति स्वतंत्र रूप से प्रैक्टिस करते हैं, परंतु भारत में इस समय केवल बड़े हॉस्पिटल में ही आहार विशेषज्ञ होते हैं। स्वतंत्र प्रैक्टिस करने वाले आहार विशेषज्ञ केवल महानगरों में ही है।

अगर आप डाइट के बारे किसी आम आदमी से पूछे तो उत्तर होगा कि पेट भर के खाओ और ठीक से पच जाए तो वही सही आहार है। अगर आप पूछे कि मोटापा कम करना है तो सीधा-साधा उत्तर मिलेगा कि कम खाओ और दबाकर काम करो। अपने आप वजन कम हो, छरहरा होना या बिना कमजोरी के वजन कम करना उतना आसान नहीं है, जितना आसान प्रतीत होता है, फिर भी यह कार्य कठिन भी नहीं है। प्रत्येक मनुष्य की शारीरिक क्षमता, पाचन शक्ति और जीवनशैली का भी आहार से सीधा संबंध होता है। इसलिए आहार का चुनाव करते समय इस बात का सदैव ध्यान रखें।।
1. प्रोटीनयुक्त भोजन करें: प्राय…

दुनिया की 10 सबसे ऊंची इमारतें

दुनिया की 10 सबसे ऊंची इमारतें कौन सी है आइए देखते है इस वीडिओ में-
देखिए वीडियो-
-Maswood Ahmed
Amity University Kolkata

ना धर्म देखा ना उम्र देखा, ना अमीर देखा और ना ही गरीब!

कोरोना महामारी से एक बात तो साफ हो गई कि प्रकृति ही सबसे बड़ा धर्म है। इसने किसी भी धर्म को अनदेखा नहीं किया और सब पर बराबर की मार की है। चाहे वह किसी भी धर्म का हो, अमीर हो या गरीब, कोरोना ने किसी को नहीं छोड़ा।

आधुनिक दौर में भोजन और बीमारियां

कोरोना संकट काल में इस वायरस से बचाव का मुख्य आधार शरीर में मौजूद प्रतिरोधक क्षमता ही है। ऐसे में प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखने के लिए खानपान पर ध्यान देना काफी जरूरी है खासकर बच्चों के आहार पर। आजकल फ्रेंच फ्राइज, पोटैटो चिप्स, समोसा, कूकिस, बर्गर, कोल्ड ड्रिंक्स, केक व पिज्जा बच्चों का मनपसंद भोजन बना हुआ है. परन्तु इस प्रकार के खाद्य पदार्थों के बढ़ते प्रचलन ने बच्चों को पोषक तत्वों से दूर कर दिया है।
बच्चा जो भी भोजन करता है, उसका प्रभाव उसके विकास पर पड़ता है। जंक फूड के बढ़ते प्रचलन ने बच्चों को घर के भोजन से दूर रखा हुआ है। उन्हें दूध के बजाय कोल्ड ड्रिंक पसंद है, और दाल-रोटी, सब्जी के बजाय पिज्जा और बर्गर। टीनएज में भी इस प्रकार के भोजन को खाने के कारण मोटापाग्रस्त हो जाना अधिक देखने को मिल रहा है इसीलिए फिटनेस सेंटर्स की तादाद भी बढ़ती जा रही है।

मोटापा ना केवल शरीर को बदसूरत बना देता है, बल्कि कई गंभीर रोग के होने की भी संभावना को बढ़ा देता है। हृदय रोग, मधुमेह आदि कई रोगों का जड़ है मोटापा। मोटे बच्चे दूसरे बच्चों के मजाक का कारण भी बनते है, जिससे उनमें हीनभावना पनपती है और उनका…

तेरे संग ही जीना यहां...

वर्ष 2020 की शुरुआत पूरी दुनिया के लिए बहुत दर्दनाक रही है। पिछले वर्ष के अंतिम दिनों से ही कोरोना वायरस जनित, रोग कोविड -19 के मनहूस साये ने धीरे-धीरे पूरी दुनिया को अपने चपेट में ले लिया। लेकिन कोरोना महामारी ने एक बात तो साफ कर दी है कि इसने किसी भी धर्म को अनदेखा नहीं किया और सब पर बराबर की मार की है।

आखिर 1 मई को ही क्यों मनाया जाता है मजदूर दिवस?

मजदूर दिवस हर साल उन लोगों की याद में मनाया जाता है जिन्होंने अपने परिश्रम से देश और दुनिया के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं। किसी भी देश, समाज या संस्था के विकास में मजदूरों की अहम भूमिका होती है। मजदूर दिवस कई वर्षों से 1 मई को हो मनाया जाता है। इस दिन देश की ज्यादातर कंपनियों में छुट्टी रहती है। केवल भारत ही नहीं दुनिया के करीब 80 देश में राष्ट्रीय अवकाश रहता है।