Skip to main content

राशन दुकानों का औचक निरीक्षण हो, हर गरीब को मिले अनाज

नया मिथिला- नया बिहार अभियान के संयोजक और पत्रकार संतोष ठाकुर ने बिहार सरकार से मांग की है कि राशन दुकानों का औचक निरीक्षण हो और यह सुनिश्चित किया जाए कि हर गरीब को अनाज मिले।

उन्होंने कहा कि यह शिकायत आ रही है असली जरूरतमंदो के अनाज को कई जगह उन्हें न देकर काला बाजार में बेचा जा रहा है। इन आरोपों की जांच होनी चाहिए। मिथिलांचल में इसको लेकर अभियान तेज किया जाना चाहिए।

उन्होंने रमजाान शुरू होने की शुभकामना भी दी और कहा कि रमजान पवित्रता का महीना है। इस दौरान हमें सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क प्रयोग को अपनाते रहना चाहिए। उन्होंने सभी से आरोग्य सेतु डाउनलोड करने की अपील भी की।

संतोष ठाकुर ने कहा कि बिहार में करीब 14 लाख और मिथिलांचल में भी लाखों लोगों के पास राशनकार्ड नहीं हैं। उन्हें भी संकट की इस घड़ी में राशन मिलना चाहिए। नियमों की आड़ में उनका हक नहीं छिनना चाहिए। उन्हें भूखे पेट न सोना पड़े, यह देखना चाहिए।

नया मिथिला-नया बिहार अभियान के संयोजक व पत्रकार संतोष ठाकुर ने कहा कि मधुबनी, दरभंगा सघन जिला है। यहां पर बेनीपटटी, मधुबनी सहित कई विधानसभा क्षेत्र हैं जो काफी सघन है। ऐसे में यहां पर कुछ जगहों पर शिकायतें भी हो सकती है।

उन्होंने कहा कि समस्त मिथिलांचल में गरीबों को अनाज सुनिश्चित हो इसके लिए हेल्पलाइन या आनॅलाइन शिकायत का तंत्र बनाया जा सकता है। जहां जरूरतमंद अनाज नहीं मिलने पर शिकयत कर पाएं। औचक दबिश से भी स्थिति में सुधार होगा। मिथिलांचल के सभी डीएम अपने दायित्व का समर्पित भाव से निवर्हन कर रहे हैं। उनके निर्देशन में इस समस्या को दूर किया जा सकता है।

संतोष ठाकुर ने अपील की कि कोरोना के समय में ऐसे गरीब लोग जिनके पास अन्न-खाना की कमी है। उन्हें सामर्थय अनुसार गांव के लोग भोजन-अनाज दें। अन्न दान से बड़ा कोई दान नहीं है। नर सेवा ही नरायण सेवा है। ऐसे में हम मिथिलावासियों  को संकट की घड़ी में दूसरे मिथिलावासी की मदद के लिए तत्पर रहने की जरूरत है।

Comments

Most Popular

सद्भावना ट्रस्ट लखनऊ में महिला दिवस समारोह एवं लीडरशिप बिल्डिंग सर्टिफिकेशन कार्यक्रम

सद्भावना ट्रस्ट, 2009 से लखनऊ शहर की बस्तियों में ज़रूरतमंद समुदाय के साथ काम रही हैं। संस्था विशेषकर लड़कियों और महिलाओं के साथ सामाजिक मुद्दे पर नज़रिया निर्माण करके उन्हें नेतृत्व में लाने का काम करती हैं। साथ ही युवा महिलाओं को तकनीकि कौशल का हुनर देते हुये उनको सशक्तीकरण एवं आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रोत्साहित करती हैं।

झारखंड का आदिवासी समाज और भूमि का उत्तराधिकार!

यूं तो झारखंड के आदिवासी समाज में औरतों की स्थिति, अन्य समाज की स्त्रियो की तुलना में पुरुष से संपत्ति के अधिकार की हो, तो ये उन सारी महिलाओं से पिछडी है जो अन्य क्षेत्रों में इनका अनुकरण करती है। आपको यह जानकर विस्मय होगा कि राज्य के जनजातीय समाज में महिलाओं को अचल संपत्ति में कोई वंशानुक्रम का अधिकार नहीं दिया जाता है। वर्तमान युग में, जब लैंगिक समानता का विषय विश्व भर में जोरों से चर्चा में है, यह अति अफसोसनाक है कि प्रदेश की आदिवासी महिलाओं को प्रथागत कानून के तहत भूमि के उत्तराधिकार से वंचित रखा गया है। छोटानागपुर काश्तकारी अधिनियम, 1908 कि धारा 7 एवं 8 में इस बात का उल्लेख है कि आदिवासी समाज में जमीन का उत्तराधिकार सिर्फ पुरुष वंश में ही किया जा सकता है। अर्थात, समाज की औरतों को इसका कतई अधिकार नहीं। हालांकि अधिनियम कि एक अन्य धारा पर गौर किया जाय तो यह मालूम होता  है कि यादि आदिवासी समाज में भूमि का हस्तांतरण, भेंट अथवा विनिमय किया जाना हो तो इसके लिए वंशानुगत पुरूष अथवा ‘अन्य ‘ योग्य है। जहां एक तरफ संथालपरगना के इलाके में ‘तानसेन जोम’ की परंपरा हैं, वही दूसरी तरफ संथालपरगना का

 अटल काव्यांजलि में जुटेंगे देश के दिग्गज कवि

पिछले कई वर्षों की भांति भारतीय राजनीति के पुरोधा युगपुरुष हम सभी के प्रेरणा स्रोत, भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री श्रधेय अटल बिहारी वाजपेई जी की जन्मजयंती की पूर्व संध्या पर दिनांक 24 दिसंबर 2022 को सायंकाल काल 5:00 बजे से 8.00 बजे तक दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित एनडीएमसी कन्वेंशन हॉल में एक भव्य "अटल काव्यांजलि" का आयोजन नीरज स्मृति न्यास द्वारा किया जा रहा है।

दिल्ली में हुआ फिल्म ‘थैंक गॉड’ का प्रमोशन

अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा ​​और अभिनेत्री रकुल प्रीत सिंह अपनी आने वाली फिल्म ‘थैंक गॉड’ का प्रमोशन करने दिल्ली पहुंचे। यह कार्यक्रम नई दिल्ली के पीवीआर प्लाजा में आयोजित किया गया था। फिल्म 25 अक्टूबर 2022 को रिलीज होगी।

 प्रधानमंत्री मोदी ने नागपुर रेलवे स्टेशन से वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 11 दिसंबर को नागपुर रेलवे स्टेशन से नागपुर और बिलासपुर को जोड़ने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस को झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रधानमंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के डिब्बों का निरीक्षण किया और ऑनबोर्ड सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने नागपुर और अजनी रेलवे स्टेशनों की विकास योजनाओं का भी जायजा लिया।