Skip to main content

सभी भारतीयों को आयुर्वेद के माध्यम से प्रतिरक्षा विकसित करना आवश्यक- गुरु मनीष

प्रसिद्ध आयुर्वेद विशेषज्ञ गुरु मनीष ने आयुर्वेद का उपयोग करते हुए प्राकृतिक इम्युनिटी बढ़ाने पर जोर दिया है, ताकि कोरोना सहित सभी तरह के संक्रमण को दूर रखा जा सके। 'शुद्धि आयुर्वेद' के संस्थापक गुरु मनीष ने टीकाकरण अभियान के बाद भी सभी भारतीयों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे आयुर्वेद के जरिए प्रतिरक्षा विकसित करें।


'राइट टू आयुर्वेदा' संबंधी एक अखिल भारतीय व अंतर्राष्ट्रीय ऑनलाइन हस्ताक्षर अभियान के संचालक ने कहा कि मैं टीकाकरण अभियान की सराहना करता हूं, हालांकि सभी भारतीयों को वैक्सीन लगाने में लंबा समय लगेगा, क्योंकि हमारे देश की आबादी 1.3 अरब से अधिक है जो दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी आबादी है। ऐसे में हम सब भारतीयों को सदियों से जांचे-परखे आयुर्वेद द्वारा इम्युनिटी बूस्टिंग प्रोटोकॉल का उपयोग करना चाहिए। इससे लोगों की प्रतिरक्षा में स्वाभाविक रूप से सुधार होगा और टीकाकरण होने तक उन्हें वायरस से बचने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि हालांकि टीका वायरस को रोकने में मदद करेगा, लेकिन जब तक हम आयुर्वेद के माध्यम से अपनी प्राकृतिक प्रतिरक्षा को नहीं बढ़ाते, तब तक वायरस को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता। ऐसे देश में जहां आयुर्वेद का जन्म हुआ, सरकार के लिए जरूरी है कि प्रतिरक्षा बढ़ाने वाली प्रणाली के रूप में आयुर्वेद को बढ़ावा दे, न कि सिर्फ टीकाकरण अभियान चलाये। सिक्के के दोनों पहलुओं पर ध्यान देने की आवश्यकता है।


गुरु मनीष ने इस बात पर जोर दिया कि हमारे प्राचीन ग्रंथ चरक संहिता के अनुसार बदलते मौसम के साथ हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली में उतार-चढ़ाव होता है, जो कि वर्तमान में देखा भी जा रहा है, क्योंकि मौसम वसंत से गर्मियों में बदल रहा है। यह तब होता है जब हमारा शरीर एक अनुकूलन प्रक्रिया से गुजरता है, जिससे यह रोगजनकों और वायरस के हमलों के प्रति कमजोर हो जाता है। वर्तमान मौसम परिवर्तन में इनसे बचाव की जरूरत है। गुरु मनीष इस चरण में वायरस को दूर करने के लिए आयुर्वेद में प्रस्तावित समाधान प्रदान करते हैं।
 
गुरु मनीष ने कहा कि जब मौसम बदलता है, आयुर्वेद के अनुसार, हमें 1-2 दिनों के लिए उपवास करना चाहिए, जो शरीर को फिर से जीवंत करने में मदद करेगा, उसकी इम्युनिटी बढ़ाएगा और इसे डिटॉक्सीफाई भी करेगा। उन्होंने कहा कि आयुष काढ़ा, हल्दी मिले गर्म पानी के गरारे और गिलोय की उपयोगिता को सरकार ने भी माना है, हालांकि इन्हें आयुर्वेद चिकित्सकों के मार्गदर्शन में लिया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि शुद्धि आयुर्वेद ने गहन शोध के बाद एक अनूठा कॉम्बो बनाया है जो इम्युनिटी को विकसित करने में मदद करता है। कॉम्बो में हमने तीन दवाएं शामिल की हैं -विषहर रस, बत्तीस जड़ी बूटियों वाली चाय और आयुष क्वाथ। विषहर रस में नीम और गिलोय जैसे तत्व होते हैं, जिनमें उच्च एंटीवायरल गुण होते हैं। चाय में 32 औषधीय जड़ी-बूटियां शामिल हैं जैसे कि इलायची, दालचीनी आदि जिनमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं और आयुष क्वाथ में तुलसी, काली मिर्च व शुंथी शामिल है जो प्रतिरक्षा बढ़ाने में मदद करती है।

Comments

Most Popular

प्रकृति का सुहाना मोड़

सड़कों पर सन्नाटा, दफ्तरों, कारखानों और सावर्जनिक स्थानों पर पड़े ताले से भले ही मानव जीवन में ठहराव आ गया है, लेकिन लॉकडाउन के बीच प्रकृति एक नयी ताजगी महसूस कर रही है। हवा, पानी और वातावरण साफ हो रहे हैं। हम इंसानों के लिए कुछ समय पहले तक ये एक सपने जैसा था। इन दिनों प्रकृति की एक अलग ही खूबसूरती देखने को मिल रही हैं जो वर्षों पहले दिखाई देती थी।

नहीं रहे बॉलीवुड स्टार इरफान खान

बॉलीवुड एक्टर इरफान खान का बुधवार, 29 अप्रैल को मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया। वह 53 साल के थे। इरफान को न्योरेंडॉक्राइन कैंसर था। एक दिन पहले ही उन्हें कोकिलाबेन धीरुभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इरफान अपने पीछे अपनी पत्नी सुतापा और 2 बेटे बबिल और अयान को छोड़ गए हैं। अभी हाल में 4 दिन पहले उनकी अम्मी सतीदा बेगम का निधन जयपुर में हो गया था। इरफान खान का जन्म 9 जनवरी 1949 को जयपुर, राजस्थान में हुआ था। उनका पूरा नाम शहाबजादे इरफान अली खान था। 23 फरवरी, 1995 को उन्होंने सुतपा सिकदर के साथ शादी की। वह 85 से ज्यादा फिल्मों में अभिनय कर चुके थे। उनमें से कुछ फिल्म हैं- हिंदी मीडियम, ब्लैकमेल, द लंचबॉक्स, अंग्रेजी मीडियम, पिकू, करीब-करीब सिंगल, बिल्लू, मदारी, पान सिंह तोमर, हैदर और कारवां। इरफान खान हॉलीवुड में भी जाना-पहचाना नाम था। उन्होंने द वारियर, द नमसेक, रोग जैसी फिल्मों के जरिए अपनी अभिनय क्षमता का लोहा मानवाया था। सन 2011 में उन्हें पद्मश्री से सम्मनित किया गया था। 2012 में इरफान खान को फिल्म पान सिंह तोमर में अभिनय के लिए श्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय फिल्म पुरस

दुनिया के 10 सबसे खूबसूरत शहर

अगर आप घूमने-फिरने के शौकीन हैं और खुद को एक्सप्लोर करना चाहते हैं तो दुनिया के कुछ सबसे खूबसूरत शहरों में आपको जरूर जाना चाहिए।

कौन हैं बॉलीवुड के 10 सबसे अमीर एक्टर

बॉलीवुड में एक से बढ़कर एक एक्टर-सुपरस्टार मौजूद हैं। जो अपनी सुपरहिट फिल्मों के जरिए लोगों का एंटरटेनमेंट करते हैं। वो एक फिल्म के जरिए करोड़ों की कमाई एक साल में कर लेते हैं,

दुनिया की 10 सबसे ऊंची इमारतें

दुनिया की 10 सबसे ऊंची इमारतें कौन सी है आइए देखते है इस वीडिओ में- देखिए वीडियो- -Maswood Ahmed Amity University Kolkata