Skip to main content

न्यूयॉर्क के ट्रिबेका फेस्टिवल में होगा आदिपुरुष का वर्ल्ड प्रीमियर

निर्देशक ओम राउत, निर्माता भूषण कुमार और अभिनेता प्रभास के लिए यह वकाई एक बड़ी उपलब्धि हैं, क्योंकि इससे भारतीय सिनेमा को एक प्रतिष्ठित वैश्विक मंच मिलेगा। फिल्म आदिपुरुष अब बस कुछ ही महीनों में रिलीज होने वाली है और दर्शक राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता निर्देशक ओम राउत द्वारा भारतीय इतिहास और संस्कृति के सबसे महान महाकाव्य रामायण के चित्रण को देखने के लिए काफी उत्साहित हैं। इस फिल्म को लेकर एक बड़ी खबर समाने आई है जो सभी के लिए बेहद खुशी और गर्व की बात है

क्योंकि अब देश के साथ साथ पूरे विश्व में भारतीय इतिहास और संस्कृति की भव्यता की गवाह बनेगी। दरअसल न्यूयॉर्क में ट्रिबेका फेस्टिवल में इस फिल्म का वर्ल्ड प्रीमियर 13 जून को होगा। यह फेस्टिवल 7-18 जून तक चलेगा। बता दें, यह फिल्म भारत और दुनिया भर में 16 जून को रिलीज होगी।

हालही में ट्रिबेका फेस्टिवल के लिए लाइन-अप की घोषणा की गई है, और इसमें आदिपुरुष का भी नाम शामिल है जिसे वर्ल्ड प्रीमियल के लिए चुना गया है। ओकेएक्स द्वारा प्रस्तुत और 2001 में रॉबर्ट डी नीरो, जेन रोसेन्थल और क्रेग हाटकॉफ द्वारा स्थापित ट्रिबेका फेस्टिवल कलाकारों और विविध दर्शकों को एक साथ लाता है ताकि कहानी कहने के सभी रूपों का जश्न मनाया जा सके। ऐसे में आदिपुरुष जो एक विजुअल ट्रीट होने का वादा करती है, जिसे 'मिडनाइट ऑफरिंग' के रूप में 3डी प्रारूप में पेश किया जाएगा। आदिपुरुष पूरी दुनिया में भारत का नाम रौशन करने के लिए तैयार है, तो ये वकाई भारतीय सिनेमा के लिए एक बहुत बड़ा पल है।


इस बड़ी उपलब्धि के बारे में बात करते हुए फिल्म के निर्देशन ओम राउत कहते हैं, “यह एक फिल्म नहीं  पर एक भाव है। एक ऐसी कहानी के लिए हमारा नजरिया है जो भारत की भावना के साथ जुड़ा है। जब मुझे पता चला कि आदिपुरुष को दुनिया के प्रतिष्ठित फिल्म फेस्टिवल्स में से एक के सम्मानित जूरी द्वारा चुना गया है, जो मैं एक छात्र के रूप में हमेशा से ख्वाहिश रखता था। ट्रिबेका फेस्टिवल का यह प्रीमियर वास्तव में मेरे लिए और पूरी टीम के लिए बहुत खास है क्योंकि हमें वैश्विक स्तर पर एक ऐसी कहानी दिखाने का मौका मिला है जो हमारी संस्कृति में गहराई तक समाई हुई है। इसके वर्ल्ड प्रीमियर पर दर्शकों की प्रतिक्रिया देखने के लिए हम असल में रोमांचित और उत्साहित हैं।"

इस पर टी-सीरीज के भूषण कुमार कहते हैं, “भारतीय सिनेमा को वैश्विक स्तर पर ले जाना वास्तव में हम सभी के लिए गर्व का पल है। ट्रिबेका फेस्टिवल दुनिया के सबसे प्रशंसित प्लेटफार्मों में से एक है और हमारी फिल्म के लिए, जो न केवल प्यार का फल है बल्कि भारतीय इतिहास को भी दर्शाता है - यहां प्रदर्शित किया जाना विनम्र, रोमांचक और जबरदस्त है। आदिपुरुष सभी के लिए एक विजुअल ट्रीट होने जा रहा है, और मुझे यकीन है कि वैश्विक दर्शकों पर इसका एक मंत्रमुग्ध करने वाला प्रभाव होगा।"

वहीं फिल्म के अभिनेता प्रभास का कहना हैं, "मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं कि आदिपुरुष का वर्ल्ड प्रीमियर ट्रिबेका फेस्टिवल, न्यूयॉर्क में होगा। हमारे राष्ट्र के आचार को दर्शाने वाले प्रोजेक्ट का हिस्सा बनना बेहद किस्मत की बात है। हमारी भारतीय फिल्में देखने के लिए, खासतौर पर वह जो मेरे बहुत करीब है। आदिपुरुष, वैश्विक मंच पर पहुंचना मुझे न केवल एक अभिनेता के रूप में बल्कि एक भारतीय के रूप में भी बेहद गौरवान्वित करता है। मैं ट्रिबेका में दर्शकों की प्रतिक्रिया देखने के लिए उत्सुक हूं।"

आदिपुरुष में प्रभास, कृति सेनन, सैफ अली खान और सनी सिंह प्रमुख भूमिकाओं में हैं। इस फिल्म का निर्देशन ओम राउत ने किया हैं और टी-सीरीज़ के भूषण कुमार और कृष्ण कुमार, ओम राउत, प्रसाद सुतार और रेट्रोफाइल्स के राजेश नायर द्वारा निर्मित है। यह फिल्म 16 जून 2023 को विश्व स्तर पर रिलीज़ होने के लिए तैयार है।


ट्रिबेका फेस्टिवल के बारे में
ओकेएक्स द्वारा प्रस्तुत ट्रिबेका फेस्टिवल फिल्म, टीवी, संगीत, ऑडियो स्टोरीटेलिंग, गेम्स और एक्सआर सहित सभी रूपों में कहानी कहने का जश्न मनाने के लिए कलाकारों और विविध दर्शकों को एक साथ लाता है। फिल्म में मजबूत जड़ों के साथ, ट्रिबेका रचनात्मक अभिव्यक्ति और मनोरंजन का दूसरा नाम है। ट्रिबेका चैंपियन्स उभरती और स्थापित आवाजों, पुरस्कार विजेता प्रतिभा की खोज करता है, नए अनुभवों को क्यूरेट करता हैं, और विशेष प्रीमियर, एग्जीबिशन, कन्वर्सेशन और लाइव प्रदर्शनों के जिए नए विचारों का परिचय देता हैं। विश्व व्यापार केंद्र पर हमलों के बाद लोवर मैनहट्टन के आर्थिक और सांस्कृतिक पुनरोद्धार को प्रोत्साहित करने के लिए 2001 में रॉबर्ट डी नीरो, जेन रोसेन्थल और क्रेग हाटकॉफ द्वारा इस फेस्टिवल की शुरूआत की गई थी। एनुअल ट्रिबेका फेस्टिवल न्यूयॉर्क सिटी में 7-18 जून, 2023 तक अपना 22वां साल मनाएगा। 2019 में, जेम्स मर्डोक के लुपा सिस्टम्स ने उद्यम को विकसित करने के लिए रोसेन्थल, डी नीरो और मर्डोक को एक साथ लाकर ट्रिबेका एंटरप्राइजेज में बहुमत हिस्सेदारी खरीदी थी।

Comments

Most Popular

विज्ञान से लाभ-हानि

आधुनिक युग को 'विज्ञान का युग' कहा जाता है। आधुनिक जीवन में विज्ञान ने हर क्षेत्र में अद्भुत क्रांति उत्पन्न कर रखी है। इसने हमारे जीवन को सहज व सरल बना दिया है। विज्ञान ने मानव की सुख-सुविधा के अनेक साधन जुटाएँ हैं। टेलीफ़ोन, टेलीविजन, सिनेमा, वायुयान, टेलीप्रिंटर आदि विज्ञान के ही आविष्कार हैं। विद्युत के

प्रधानमंत्री मोदी ने किया एम्स नागपुर राष्ट्र को समर्पित

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज, 11 दिसंबर को एम्स नागपुर राष्ट्र को समर्पित किया। प्रधानमंत्री ने नागपुर एम्स परियोजना मॉडल का निरीक्षण भी किया और इस अवसर पर प्रदर्शित माइलस्टोन प्रदर्शनी गैलरी का अवलोकन किया।

 संघर्ष जितना अधिक होगा, संवेदना उतनी ही अधिक छुएगीः ऊषा किरण खान

साहित्य आजतक के मंचपर अंतिम दिन 'ये जिंदगी के मेले' सेशन में देशकी जानी मानी लेखिकाओं ने साहित्य, लेखन और मौजूदा परिदृश्य पर बातें कीं. इनमें लेखिका उपन्यासकार डॉ. सूर्यबाला, लेखिका ममताकालिया, लेखिका ऊषाकिरण खान शामिल हुईं. 

 प्रधानमंत्री मोदी ने नागपुर रेलवे स्टेशन से वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 11 दिसंबर को नागपुर रेलवे स्टेशन से नागपुर और बिलासपुर को जोड़ने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस को झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रधानमंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के डिब्बों का निरीक्षण किया और ऑनबोर्ड सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने नागपुर और अजनी रेलवे स्टेशनों की विकास योजनाओं का भी जायजा लिया।

चितरंजन त्रिपाठी बने राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय-NSD के नए निदेशक

आखिरकार राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय- NSD को स्थायी निदेशक चितरंजन त्रिपाठी के रूप में मिल गया है। संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत भारत सरकार की स्वायत्त संस्था राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय विश्व पटल पर रंगमंच के लिए स्थापित रंग संस्था है। चितरंजन त्रिपाठी एनएसडी ते 12 वें निदेशक हैं। अच्छी बात यह है कि वे यहां के 9वें स्नातक भी हैं, जिन्होंने निदेशक का पद भार सम्भाला है। श्री त्रिपाठी राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के 1996 बैच के स्नातक हैं।