Skip to main content

थैंक यू ‘बोलो इंग्लिश’! तकनीकि की सहायता से धाराप्रवाह अंग्रेजी बोल रहे बजट स्कूलों के छात्र

थिंक टैंक सेंटर फॉर सिविल सोसायटी के अनूठे प्रोजेक्ट ‘बोलो इंग्लिश’ के तहत देश भर के बजट स्कूलों के स्टूडेंट्स को धाराप्रवाह अंग्रेजी बोलना सिखाया जा रहा है। पिछले दो वर्षों से अंग्रेजी बोलना सीखने के इच्छुक छात्रों को प्रीमियम ऐप ‘बोलो इंग्लिश’ का सब्सक्रिप्शन निशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। इस दौरान 11 राज्यों के एक लाख से अधिक स्टूडेंट्स और 4 हजार से अधिक टीचर्स इस प्रोजेक्ट के साथ जुड़ चुके हैं। इस ऐप के इस्तेमाल से छात्रों के प्रदर्शन में ऐसा निखार

आया कि उन्हें यूनाइटेड नेशंस सहित अन्य राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं से भी तारीफ मिलने लगी है। इस प्रोजेक्ट से लाभान्वित हुए ऐसे ही कुछ छात्रों, उनके पेरेंट्स और स्कूल टीचर्स को सेंटर फॉर सिविल सोसायटी द्वारा राजधानी दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान सम्मानित किया गया जिसमें उत्तर भारत के विभिन्न राज्यों से १०० से अधिक शिक्षक, स्कूल संचालक, शिक्षाविद, छात्र तथा पालिसी तज्ञ उपस्थित थे।


इंडिया हैबिटेट सेंटर स्थित गुलमोहर ऑडिटोरियम में ‘नवनिर्माणः पाथ टू च्वाइस एंड एक्सीलेंस इन एजुकेशन’ कार्यक्रम के दौरान दिल्ली, अंबाला, कानपुर और आगरा से आए स्टूडेंट्स, पैरेंट्स और टीचर्स को सम्मानित किया गया। इस दौरान ‘स्टैंडर्ड सेटिंग एंड एक्रिडेशन फॉर स्कूल एजुकेशन’ और ‘पाथ टू एक्सिलेंस’ विषय पर सेमिनार का आयोजन भी किया गया। वक्ताओं में मुख्य रूप से सीसीएस के फाउंडिंग प्रेसिडेंट डा. पार्थ जे शाह, प्रॉक्टर एंड गैम्बल इंडिया के पूर्व सीईओ और लेखक गुरचरन दास, यूनिवर्सिटी कॉलेज, लंदन की प्रो. गीता गांधी किंगडन, नीति आयोग के डिप्टी एडवाइज़र हर्षित मिश्रा, नेशनल इंडिपेंडेंट स्कूल्स अलायंस (निसा) के प्रेसिडेंट डा. कुलभूषण शर्मा, सीसीएस की सीईओ लक्ष्मी गोयल, भारती फाउंडेशन की सीईओ ममता सैकिया, अफोर्डेबल प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन (एप्सा) के प्रेसिडेंट डा. लक्ष्य छाबड़िया, साइंस एजुकेशन रिसोर्स ग्रुप के हेड डा. अर्पण कृष्णा देब, एस.डी. विद्या स्कूल, हरियाणा की डायरेक्टर नीलिन्दरजीत सिंह संधू ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन इंग्लिश बोलो प्रोजेक्ट के संयोजक रोहन जोशी ने किया।


डा. पार्थ शाह ने जहां कोरोना काल के दौरान बजट स्कूलों की सरकार द्वारा की गई उपेक्षा को रेखांकित किया वहीं गुरचरन दास ने देश में अंग्रेजी की बढ़ती अहमियत और इसकी उपयोगिता पर प्रकाश डाला। प्रो. गीता गांधी किंगडन ने नई शिक्षा नीति का हवाला देते हुए कहा कि देश की शिक्षा व्यवस्था में भारी खामी है और एनईपी उसमें सुधार की जरूरत की सार्वजनिक स्वीकारोक्ति है। हर्षित मेहता ने देश में स्कूलों की बड़ी तादाद को परेशानी का सबब बताया और कहा कि चीन में जहां केवल 5 लाख स्कूल हैं वहीं भारत में इनकी संख्या 15 लाख है।

Comments

Most Popular

शास्त्रीय संगीत से सजा ठुमरी उत्सव- दूसरे और तीसरे दिन भी मंच पर उतरेंगे प्रख्यात कलाकार

ठुमरी उत्सव साहित्य कला परिषद की ओर से आयोजित किये जाने वाले उत्सवो में से एक है। इस साल यह उत्सव काफी लंबे समय के बाद शुरू हुआ है। इस 3 दिवसीय संगीत कार्यक्रम की शुक्रवार को कमानी सभागार, मंडी हाउस में हुई, जो 28 अगस्त तक चलेगा।

ब्यूटी और वेलनेस सेक्टर स्किल काउंसिल की ओर से होलिस्टिक वैलनेस वर्कशॉप का आयोजन

समग्र रूप से वेलनेस प्राप्त करने और बढ़ावा देने के दृष्टिकोण के साथ ब्यूटी और वेलनेस सेक्टर स्किल काउंसिल (बी एंड डब्ल्यू एस एस सी ) द्वारा कौशल विकास मंत्रालय  के अधिकारियों के लिए एक 360* वेलनेस कार्यशाला  का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला का उद्देश्य होलिस्टिक लाइफ्स्टाइल पर जानकारी देना और अवेयरनेस क्रिएट करते हुए होलिस्टिक अप्रोच के साथ स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के लिए प्रेरित करना था।  

राम जन्म से सुबाहू वध की लीला का मंचन

देश-विदेश में लोकप्रिय लव कुश रामलीला कमेटी के मंच पर लीला मंचन से पूर्व विशेष अतिथि केंद्रीय राज्य कानून और न्याय मंत्री सत्य पाल सिंह बघेल के साथ लव कुश के प्रेसिडेंट अर्जुन कुमार और लीला के पदाधिकारियों ने प्रभु श्री राम की पूजा अर्चना की।

फिल्म 'आई एम गोना टेल गॉड एवरीथिंग' की स्क्रीनिंग पर पहुंचे सत्यपाल सिंह

संजय दत्त द्वारा प्रस्तुत और गुजरात में जन्मे अमेरिका में पले-बढ़े जय पटेल की हॉलीवुड शॉर्ट फिल्म 'आई एम गोना टेल गॉड एवरीथिंग' सारी दुनिया में चर्चा में है। फ़िल्म के सह निर्माता अभिषेक दुधैया हैं जिन्होंने अजय देवगन के साथ फ़िल्म भुज का निर्माण और निर्देशन किया था। दिल दहला देने वाली इस रीयलिस्टिक फ़िल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग राजधानी दिल्ली में हुई, जहां चीफ गेस्ट के रूप में मुम्बई के पूर्व पुलिस कमिश्नर और भाजपा सांसद सत्यपाल सिंह उपस्थित रहे। सत्यपाल सिंह के अलावा यहां काफी गेस्ट्स आए जिन्हें निर्माता जय पटेल और अभिषेक दुधैया ने शॉल और ट्रॉफी देकर सम्मानित किया।

दिल्ली में प्रमोशन करने पहुंची मैग्नम ओपस ‘पीएस-1’ की टीम

डायरेक्टर मणिरत्नम की ड्रीम ‘पीएस-1’ फिल्म 30 सितंबर को रिलीज होने के लिए तैयार है। यह एक ऐतिहासिक फिक्शन फिल्म है और इस साल की सबसे बहुप्रतीक्षित फिल्मों में से एक है।